Hindi News Portal
header-1

बड़ी खबर:- देर रात मुख्यमंत्री की उपस्थिति में भाजपा ने बागेश्वर सीट के लिए तय किया तीन नामों का पैनल, ये हो सकते हैं प्रत्यााशी

खबरे सुने

देहरादून : प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने कहा कि भाजपा पार्टी इस उपचुनाव की दो महीने से तैयारी में जुटी है। वहां सांगठनिक दृष्टि से पहले ही शक्ति केंद्र और बूथ स्तर पर बैठकें मुख्यमंत्री धामी के कार्यक्रम और प्रदेश पदाधिकारियों के प्रवास संपन्न हो गए हैं। प्रत्याशी चयन की प्रक्रिया के तहत विधानसभा चुनाव प्रबंधन टोली ने संभावित दावेदारों के नामों पर चर्चा कर इन्हें प्रदेश पार्लियामेंट बोर्ड को सौंपा। बागेश्वर विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए भाजपा ने तीन नामों का पैनल तैयार कर लिया है, जिसे केंद्रीय पार्लियामेंट्री बोर्ड को भेजा जा रहा है। गुरुवार रात्रि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी व प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट की उपस्थिति में हुई बैठक में पैनल के नामों पर मुहर लगी। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भट्ट ने कहा कि पार्टी प्रत्याशी चंपावत उपचुनाव की तर्ज पर बागेश्वर में भी रिकार्ड मतों से जीत दर्ज करेगा।

बागेश्वर विधानसभा सीट कैबिनेट मंत्री रहे चंदन राम दास के निधन के कारण रिक्त हुई है। गुरुवार रात्रि बीजापुर अतिथि गृह और फिर मुख्यमंत्री आवास में हुई प्रदेश पार्लियामेंट्री बोर्ड की बैठक में सर्वसम्मति से तीन नामों का पैनल तैयार किया गया। बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा, प्रदेश महामंत्री संगठन अजेय कुमार, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व विधायक मदन कौशिक, कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष आशा नौटियाल भी शामिल हुईं। सूत्रों के अनुसार पैनल के लिए कुल पांच नामों पर चर्चा की गई।
इनमें दो नाम स्व. राम दास के स्वजन के थे। बैठक में तीन नाम पैनल के लिए तय किए गए, जिनमें स्व चंदन राम दास के एक स्वजन के अलावा दो अन्य नाम शामिल किए गए हैं। अधिक संभावना इसी बात की है कि स्व राम दास के स्वजन को ही पार्टी अपना प्रत्याशी बनाए जिसमें उनकी पत्नी का नाम प्रमुखता से सामने आ रहा है।

प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि पार्टी इस उपचुनाव की दो महीने से तैयारी में जुटी है। वहां सांगठनिक दृष्टि से पहले ही शक्ति केंद्र और बूथ स्तर पर बैठकें, मुख्यमंत्री धामी के कार्यक्रम और प्रदेश पदाधिकारियों के प्रवास संपन्न हो गए हैं। प्रत्याशी चयन की प्रक्रिया के तहत विधानसभा चुनाव प्रबंधन टोली ने संभावित दावेदारों के नामों पर चर्चा कर इन्हें प्रदेश पार्लियामेंट बोर्ड को सौंपा, जिस पर सभी पहलुओं पर चर्चा कर तीन नामों का पैनल केंद्रीय पार्लियामेंट्री बोर्ड को भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय नेतृत्व द्वारा नाम तय करने के बाद शीघ्र ही नामांकन की तिथि घोषित कर दी जाएगी।

%d bloggers like this: