Hindi News Portal
header-1

जेब पर भारी परिवहन की मार,महंगा होगा सफर और मालभाड़ा

खबरे सुने

देहरादून: आसमान छूते पेट्रोल और डीजल के दामों के साथ वाहन के बीमे और फिटनेस शुल्क में हुए इजाफे के बाद सरकार ने उत्तराखण्ड में सार्वजनिक यात्री वाहनों और भार वाहनों का किराया बढ़ाने की कवायद शुरू कर दी है। ये इजाफा चारधाम यात्रा शुरू होने से पहले प्रस्तावित है इसीलिए राज्य परिवहन प्राधिकरण की विशेष बैठक बुलाने की बात कही जा रही।

आपको मालूम हो कि परिवहन विभाग की किराया निर्धारण समिति ने कल देर शाम अपनी रिपोर्ट परिवहन मुख्यालय को सौंप दी है। समिति में प्रदेश के चारों संभाग के संभागीय परिवहन अधिकारी मौजूद थे। समिति ने 30 से 35 फीसद तक इजाफा करने की सिफारिश करी है। जिसके तहत साधारण बस का किराया अब 40 से 45 पैसे प्रति किमी प्रति यात्री के हिसाब से बढ़ जाएगा।

प्राईवेट बसों के मुकाबले रोडवेज बसों का किराया 20 फीसद अधिक होगा। इस समय रोडवेज बसों में मैदानी मार्गों पर किराया 1.25 रुपये और पर्वतीय मार्गों पर किराया 1.80 रुपये है। निजी बसों में मैदानी मार्गों पर किराया 1.05 रुपये और पर्वतीय मागों पर 1.50 रुपये है। नए किराये में रोडवेज में मैदानी मार्गों पर किराया 1.70 रुपये व पर्वतीय मार्गों पर 2.25 रुपये हो सकता है।

 

%d bloggers like this: