Hindi News Portal
header-1

यूएनएससी की आपात बैठक में यूक्रेन पर चर्चा करेंगे छह देश

खबरे सुने

यूक्रेन-रूस के बीच जंग का आज 22वां दिन है। छह देशों ने यूक्रेन में मानवीय स्थिति पर चर्चा करने के लिए आज यूएनएससी की आपातकालीन बैठक बुलाई है। 21वें दिन यूक्रेन की ओर से दावा किया गया कि उसने रूस की सेना को भारी नुकसान पहुंचाया है।

उधर, रूस-यूक्रेन के बीच वार्ता को लेकर खबर सामने आई है कि दोनों देश शांति समझौते के एक हिस्से को जल्द ही अंतिम रूप दे सकते हैं। वहीं अंतरराष्ट्रीय अदालत ने रूस को आदेश दिया कि वह यूक्रेन पर तुरंत हमला बंद करे। इसी बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने यूक्रेन को 800 मिलियन डॉलर की अतिरिक्त सुरक्षा सहायता देने की घोषणा की।

संयुक्त राष्ट्र में यूक्रेन के प्रतिनिधि सर्गेई किस्लिट्स्या ने ट्वीट किया, “संयुक्त राष्ट्र के सदस्यों से समर्थन करने के लिए रूस की अपील एक घोर पाखंड है- एक सीरियल किलर द्वारा मानवीय मसौदा प्रस्ताव पेश करना अपमानजनक है। संयुक्त राष्ट्र के सदस्यों को यूक्रेन में रूसी सेना द्वारा मारे गए बच्चों और वयस्कों के खून में गोता लगाने से पहले दो बार सोचना चाहिए।”

यूएस फेडरल रिजर्व ने 2018 के बाद पहली बार ब्याज दरों में 0.25 फीसदी की बढ़ोतरी की है। यह बढ़ोतरी अत्यधिक मुद्रास्फीति और यूक्रेन में युद्ध से उत्पन्न आर्थिक जोखिमों का मुकाबला करने के लिए साथ ही कोविड-19 से जूझने से लेकर अगले साल प्रतिबंधात्मक स्तर तक उधार लेने की लागत को आगे बढ़ाने के लिए एक आक्रामक योजना के तहत की गई है।

अमेरिका ने यूक्रेन को अधिक सैन्य सहायता देने की घोषणा की है। इसी कड़ी में लंबी दूरी की मिसाइल रक्षा और स्विचब्लेड सशस्त्र ड्रोन शामिल हैं। ताकि दूर से रूसी विमानों और बख्तरबंद गाड़ियों से बेहतर बचाव किया जा सके। समाचार एजेंसी एएफपी के अनुसार, यूक्रेन के लिए राष्ट्रपति जो बाइडन ने जिन नए हथियारों और उपकरणों की घोषणा की है उनमें S-300 लंबी दूरी की मिसाइल रक्षा प्रणाली, ‘कामिकेज ड्रोन’, विमान-रोधी स्टिंगर्स और ‘सेंट जेवलिन’ स्व-निर्देशित मिसाइल शामिल हैं।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि “अमेरिका अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) के उस आदेश का स्वागत करता है, जिसमें रूस द्वारा यूक्रेन में सैन्य अभियानों को तुरंत बंद करने को कहा गया है। हम रूसी सरकार से कोर्ट के आदेश का सम्मान करने और अस्थायी उपायों का पालन करने का आग्रह करते हैं। हम यूक्रेन के साथ खड़े हैं।”

दोनों देशों में बातचीत से समझौते की उम्मीद के बीच फ्रांस के विदेश मंत्री जीन-यवेस ले ड्रियन ने कहा कि रूस यूक्रेन के साथ केवल “बातचीत करने का नाटक” कर रहा है। उन्होंने कहा कि रूस “लंबे समय तक चलने वाली क्रूरता की नाटकीय प्रक्रिया” में संलग्न है। जीन-यवेस ले ड्रियन ने बुधवार को एक साक्षात्कार में फ्रांसीसी समाचार पत्र ले पेरिसियन को बताया कि “केवल एक ही आपात स्थिति है: संघर्ष विराम, संघर्ष विराम, संघर्ष विराम। … इस आधार पर ही आप बातचीत कर सकते हैं, क्योंकि आप अपने सिर पर बंदूक रखकर बातचीत नहीं करते हैं।”

%d bloggers like this: